कोलेस्ट्रॉल लेवल कम करने की होम्योपैथिक दवा [ Homeopathic Medicine For High Cholesterol In Hindi ]

0
2001

शरीर में कोलेस्ट्रॉल लेवल का बढ़ना बहुत ही आम समस्या है और यह समस्या अक्सर लोगों को हो जाया करती है। कोलेस्ट्रॉल एक प्रकार का तेल होता है जो Cells से बनता है, मनुष्य के शरीर में जो सेल्स होते है उससे भी कोलेस्ट्रॉल बनता है। कोलेस्ट्रॉल कई प्रकार के होते हैं और शरीर में उनकी मात्रा भी अलग-अलग होती है, शरीर में अगर कोलेस्ट्रॉल का स्तर 200 से अधिक हो जाता है तो उसे हाई कोलेस्ट्रॉल कहा जाता है। यदि आपका LDL ( एलडीएल ) कोलेस्ट्रॉल 130 से अधिक हो गया है तो उसे भी हाई कोलेस्ट्रॉल कहा जायेगा, यदि आपका HDL कोलेस्ट्रॉल 50 से कम है तो उस स्थिति में भी कोलेस्ट्रॉल लेवल हाई माना जायेगा, और यदि आपका triglycerides level 200 से कम हो गया है तो इस स्थिति को भी हाई कोलेस्ट्रॉल कहा जायेगा।

हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल के कारण

  1. अधिक मांसाहारी भोजन खाने से कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ जाता है
  2. बहुत अधिक अंडे या दूध और दूध से बने पदार्थ का सेवन करने से भी कोलेस्ट्रॉल लेवल में वृद्धि होती है
  3. अधिक मात्रा में घी और मक्खन का प्रयोग करना भी हानिकारक है कोलेस्ट्रॉल लेवल के लिए
  4. यह अनुवांशिक भी होती है।
  5. अधिक मानसिक तनाव, थकान, घुटन या चिंता के कारण भी यह समस्या हो जाती है।
  6. अधिक समय तक एलोपैथी दवाई का सेवन भी एक मुख्य कारण है।
  7. व्यायाम न करना भी एक मुख्य कारण है।

कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने के लक्षण

कोलेस्ट्रॉल लेवल बहुत धीरे-धीरे बढ़ता है जिस कारण उसके लक्षण साफ-साफ नहीं दिखते लेकिन कुछ लक्षण है जिनसे पहचाना जा सकता है की आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ा है या नहीं।

  1. यदि आप बहुत सुस्त रहते है और आपको बहुत नींद आती है तो संभव है आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ गया हो।
  2. यदि आप मोटे है और मोटापा कम नहीं हो रहा है तो सम्भव है आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ा हो।
  3. शरीर में ठीक से खून का संचार न होना, क्योंकि अधिक कोलेस्ट्रॉल लेवल के कारण ग्रंथियों में खून जम जाता है जिस कारण खून का संचार रुक जाता है
  4. कोलेस्ट्रॉल लेवल के बढ़ने से हार्ट अटैक आने की संभावना रहती है क्योंकि खून जमने के कारण हृदय की धमनियों में ठीक से खून नहीं जा पाता।

कोलेस्ट्रॉल लेवल को नियंत्रित करने के लिए होम्योपैथी दवाईयाँ

Allium Sativum Q :- इसे आम भाषा में लहसुन भी कहा जा सकता है। लहसुन हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल के लिए बहुत ही लाभदायक होता है और यह दवाई उसी से बनाया जाता है। यह दवाई हमारे शरीर के हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने के लिए बहुत ही असरदार है। Allium Sativum Q की 20 बूँद आधे कप पानी में डाल कर दिन में दो बार पीना है। यह दवाई आपको खाली पेट में पीना है।

Crataegus Oxyacantha Q :- यह दवाई न केवल कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में मदद करता है बल्कि यह एक हार्ट टॉनिक भी है, यह दवाई हृदय के लिए भी बहुत अच्छी है, हृदय की धमनियों में जो खून जम जाता है यह दवाई उसे भी ठीक करने में मदद करता है। अगर आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ गया है तो इसकी 20 बूँद आधे कप पानी में डाल कर लेनी है, ऐसे आपको इसे दिन में दो से तीन बार पीना है। यह दवाई रक्त चाप को भी नियंत्रित रखता है।

नोट :- यदि आप Allium Sativum Q और Crataegus Oxyacantha Q को बराबर मात्रा में मिला कर रख ले और इसकी 20 बूँद आधे कप पानी में डाल कर दिन में दो बार ले तो भी यह बहुत असरदार रहेगा और इससे दवाई की कड़वाहट भी खत्म हो जाएगी।

Cholesterinum 3x :- यह दवाई अधिक कोलेस्ट्रॉल लेवल के लिए बहुत ही असरदार है और यह दवाई बहुत अधिक दी जाती है कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने के लिए। इसकी दो-दो गोली दिन में तीन बार चूसनी है।

Blood Cholesterol Drops (NL-3) :- यह बहुत ही असरदार ड्राप है कोलेस्ट्रॉल और हाईपर कोलेस्ट्रॉल के लिए। इसमें कई सारी होम्‍योपैथी दवाईयाँ मिली हुई है जिससे यह दवाई बहुत असरदार है। इसकी 20 बूँद आधे कप पानी में डालकर दिन में तीन बार पीना है।

नोट :- ये चारों दवाईयाँ आपको कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने के लिए लेनी है। पहली और दूसरी दवाई को बराबर मात्रा में मिला कर भी ली जा सकती है तब वह ज्यादा फायदेमंद होती है। अगर आप ये सभी दवाईयाँ एक महीने तक लेकर फिर अपने कोलेस्ट्रॉल लेवल की जाँच कराते है तो निश्चित तौर पर आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल कम हो जायेगा और छः महीने तक लेने के बाद आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल बिल्कुल ठीक हो जायेगा।