Homeopathic Medicine for Small Pox

0
255

यह भी एक प्रकार की चेचक ही है किन्तु दोनों में अर्थात् बड़ी माता और छोटी माता में थोड़ा अन्तर है जो इस प्रकार है- बड़ी माता के दाने धीरे-धीरे करके लगभग एक साथ ही पूरे शरीर पर निकलते हैं जबकि छोटी हैं । बड़ी माता के दाने बड़े आकार के होते हैं जबकि छोटी माता के दाने छोटे आकार के । बड़ी माता के दाने चपटे होते हैं जबकि छोटी माता के दाने ऊपर की ओर उठे हुये नुकीले होते हैं। बड़ी माता के दाने कुछ दिनों बाद बीच में से फट जाते हैं और सूख जाने पर उनसे छिछड़े उतरते हैं जबकि छोटी माता के दाने न तो फटते हैं और न ही उनसे छिछड़े उतरते हैं, वे केवल यथास्थान सूख जाते हैं ।

यह रोग वास्तव में बड़ी माता का ही एक प्रकार है अतः इसके लक्षण और पथ्यापथ्य बड़ी माता के अनुसार ही हैं । बड़ी माता में बताई गई दवायें लक्षणों के अनुसार इस छोटी माता रोग में भी दी जा सकती हैं । अन्य कुछ दवायें यहाँ बता रहे हैं ।

रसटॉक्स 3, 30- यह इस रोग की अति उत्तम और सबसे प्रमुख दवा है । इस दवा की रोग की किसी भी अवस्था में दिया जा सकता है । अत्यधिक खुजली होने पर यह दवा विशेष लाभप्रद है ।

एण्टिम टार्ट 6– यदि रसटॉक्स से लाभ न हो तो यह दवा दें ।

Previous articleHomeopathic Medicine for Children
Next articleHomeopathic Medicine For Perspiration
जनसाधारण के लिये यह वेबसाइट बहुत फायदेमंद है, क्योंकि डॉ G.P Singh ने अपने दीर्घकालीन अनुभवों को सहज व सरल भाषा शैली में अभिव्यक्त किया है। इस सुन्दर प्रस्तुति के लिए वेबसाइट निर्माता भी बधाई के पात्र हैं । अगर होमियोपैथी, घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज के सभी पोस्ट को रेगुलर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को अवश्य like करें। Like करने के लिए Facebook Like लिंक पर क्लिक करें। याद रखें जहां Allopathy हो बेअसर वहाँ Homeopathy करे असर।