Pain In Shoulders – कन्धे में दर्द

3
1074
Guy has pain in the neck

चेलिडोनियम मेजस6, 30- इस दवा की क्रिया शरीर के दाहिने भाग पर विशेष रूप से होती है । दाहिनी ऑख, दाहिनी स्कन्धास्थि के निम्न कोण, छाती के दाहिनी ओर, दाहिने कन्धे, दाहिनी जाँघ में इसका दर्द हो सकता है । दाहिना पाँव बर्फ की भाँति ठंडा रहता है और बॉया पैर ज्यों का त्यों सामान्य रहता है । कान का दाँया भाग तथा दाहिनी कलाई इसके विशेष क्षेत्र हैं जहाँ दर्द बराबर बना रहता है | पीठ के बॉये भाग के निम्न भीतरी कोण से यदि दर्द छाती तक फैल जाये तो चेनोपोडि ग्लौसि एफिस 6, 30 को भी याद रखिये ।

लाइकोपोडियम 200, 1M- यह भी दाहिने पाश्र्व के दर्द की दवा है परन्तु फर्क यह है कि इसमें दर्द के साथ पेट फूलना, गैस बनना जैसे लक्षण भी संयुक्त रहते हैं ।

फैरम फॉस 30, 12x- बॉये कंधे के दर्द के लिये यह सर्वश्रेष्ठ दवा मानी जाती है । वैसे यह सब तरह के ज्वरों, प्रदाहों की पहली अवस्था में व्यवहार की जाने वाली बहुत अच्छी दवा है । प्रदाह में रक्तसंचय होना शुरू होने पर इससे लाभ नहीं होगा ।

लैकेसिस 30, 200- यह दवा भी बॉयी ओर से प्रारम्भ होने वाले प्रत्येक दर्द में फायदेमन्द है तथा रोग का आक्रमण बाँयी ओर से शुरू होकर रोग दाहिने पाश्र्व की ओर फैल भी सकता है। इसका रोगी दर्द के कारण रोगग्रस्त स्थान को छूने नहीं देता । सन्देही स्वभाव वाले व्यक्तियों पर यह अच्छा काम करती है।

कैल्मिया 3x, 30- इसका दर्द भी प्रायः बॉये कन्धे से शुरू होकर नीचे की ओर उतरता है और एक जगह आकर स्थायी हो जाता है ।

Previous articleGet Fair Skin With Homeopathy
Next articlesweating smell – पसीने के विविध उपसर्ग का इलाज़
जनसाधारण के लिये यह वेबसाइट बहुत फायदेमंद है, क्योंकि डॉ G.P Singh ने अपने दीर्घकालीन अनुभवों को सहज व सरल भाषा शैली में अभिव्यक्त किया है। इस सुन्दर प्रस्तुति के लिए वेबसाइट निर्माता भी बधाई के पात्र हैं । अगर होमियोपैथी, घरेलू और आयुर्वेदिक इलाज के सभी पोस्ट को रेगुलर प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को अवश्य like करें। Like करने के लिए Facebook Like लिंक पर क्लिक करें। याद रखें जहां Allopathy हो बेअसर वहाँ Homeopathy करे असर।

3 COMMENTS

Comments are closed.